Latest Post

लाडला भाई योजना की शुरुआत ,10,000 रुपये प्रदान किए जाएंगे। BSTC Rajasthan Pre-DElEd Result 2024 Declared: डायरेक्ट लिंक और डाउनलोड करने के चरण
Spread the love

 रूसी क्रांति के कारणऔर प्रभाव|Causes and Effects of the Russian Revolution.

   

रूसी क्रांति आंदोलन:-

 

👉19वीं सदी में अनेक सुधारवादी तथा क्रांतिकारी आंदोलन हुए जिसमें रूसी किसानों के असंतोष की अभिव्यक्ति हुई|

👉1861 ईसवी में कृषि दासता के उन्मूलन के बावजूद वहां के किसानों का जीवन दयनीय था|

👉औद्योगिक श्रमिक का नया वर्ग गरीबी और अभाव का जीवन व्यतीत कर रहा था|

👉मध्य वर्ग तथा बुद्धिजीवी लोग निरंकुश राज्य व्यवस्था का विरोध करने में एकजुट हो गए थे और वह भी किसानों की तरह क्रांतिकारी आंदोलन की ओर अग्रसर हुए|

👉19वीं सदी के अंतिम चरण में रूस में समाजवादी विचार फैलने लगे थे इस दौरान कई समाजवादी समूह का गठन किया गया था|

👉 लेनिन के नाम से विख्यात व्लादिमीर इलिच उलियानोव  इस दल के वामपंथी नेता थे| अल्पमत दल को मैनशेविक कहां जाता था|

👉1903 ईस्वी में इस गुट  ने दल में बहुमत प्राप्त कर लिया| यह बहुमत दल बोल्शेविक नाम से प्रसिद्ध हुआ|

👉बोल्शेविको ने समाजवाद की स्थापना को अपना लक्ष्य बताते हुए यह संकल्प लिया की उनका तात्कालिक कार्य निरंकुश जारशाही को समाप्त करके एक गणतंत्र की स्थापना करना|

 

👉1905 में रूस में एक क्रांति हुई जिसके परिणाम स्वरूप जॉर्ज निकोलस द्वितीय को ड्यूमा नामक संसद की स्थापना करने तथा लोगों को कुछ अन्य लोकतांत्रिक अधिकार देने पर विवश होना पड़ा|

👉इस दौर मे श्रमिकों के एक नए प्रकार के संगठन का जन्म हुआ था, जिसे सोवियत कहा जाता था|

👉धीरे-धीरे पूरे देश में सोवियत स्थापित हो गई| बाद में इन सोवियत ने रूस क्रांति में एक निर्णायक भूमिका निभाई|

Causes and Effects of the Russian Revolution.
रूस

 

 

 

 

रूसी क्रांति में फरवरी क्रांति:-

 

👉 युद्ध ने रूस की तत्कालीन व्यवस्था को दिवालियापन साबित कर दिया| इस युद्ध के परिणाम स्वरूप निरंकुश तंत्र का संकट और भी ज्यादा हो गया और अंत में यही उसके पतन का कारण बना|

👉रूस के कमजोर अर्थव्यवस्था को युद्ध ने और भी जर्जर बना दिया था| देश के सामने भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई थी| रोटी की कमी होने कारण इसके खरीदारों की लंबी-लंबी कतारे लगने लगी थी|

👉1917 ईस्वी के आरंभ से एक कई रेजीमेंट हड़ताल में शामिल हो गए उन्होंने राजनीतिक बंदियों को आजाद कर दिया और जारसाही जनरलो और मंत्रियों को गिरफ्तार कर लिया| पेट्रोग्राड  विद्रोही श्रमिकों तथा सैनिकों के हाथ में आ चुका था|

👉12 मार्च 1917 की घटनाओं के साथ फरवरी क्रांति संपन्न हुई| इसे यह संज्ञा इसलिए दी गई, क्योंकि रूस के पुराने पंचांग के अनुसार वह दिन 27 फरवरी था|

👉उस समय जार राजधानी से बाहर था| उसने विद्रोहियों को दबाने और ड्यूमा को भंग कर देने का आदेश जारी किया लेकिन ड्यूमा ने सत्ता अपने हाथों में ले लेने का निर्णय किया और 15 मार्च को उसने एक अस्थाई सरकार की घोषणा कर दी|

 

 

Causes and Effects of the Russian Revolution.
 

 

रूसी क्रांति में अक्टूबर क्रांति:-

 

👉25 अक्टूबर 1917 ईस्वी को श्रमिकों तथा सैनिकों के प्रतिनिधियों की सोवियतो की अखिल रूसी कांग्रेस की बैठक बुलाई गई|

👉पेट्राग्राड मे 25 अक्टूबर की सुबह विद्रोह आरंभ हुआ एवं कुछ घंटों में सभी प्रमुख स्थानों पर बोल्शेविको के नेतृत्व में क्रांतिकारी सैनिक तथा श्रमिकों के अधीन हो गए|

👉अगले दिन विक्टर पैलेस पर कब्जा कर लिया गया और अस्थाई सरकार के सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया| इस सरकार का मुखिया करेंसकी ब निकला|

👉1918 तक पूरे देश में अपनी सत्ता स्थापित कर ली| परंतु इसके पश्चात रूस गृह युद्ध से ग्रसित हो गया|

👉फ्रांस, ब्रिटेन, संयुक्त राज्य अमेरिका, जापान और अन्य मित्र राष्ट्र शक्तियां भी को फिर से लड़ाई में घटित ने, उसके संसाधनों का युद्ध के लिए प्रयोग करने और क्रांति विरोधी शक्तियों को सहायता देने के लिए उसके मामलों में हस्तक्षेप करने की लगी|

👉अंततः गृह युद्ध तथा विदेशी सैनिक हस्तक्षेप 1920 ईसवी में समाप्त हुआ|

👉जारशाही  प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान समाप्त करने वाला पहला राजवंश था|

 

रूसी क्रांति का वैश्विक प्रभाव:-

 

👉पूरे विश्व में साम्यवादी विचारों का प्रचार प्रसार हुआ और अनेक देशों में साम्यवादी पदस्थापित हुई|

👉विश्व दो विचारधाराओं के गुट विभाजित हुआ जो शीत युद्ध के प्रभाव का कारण बना|

👉अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में आर्थिक नियोजन की प्रणाली स्वीकृत किया गया|

👉मजदूरों के प्रति एक नया दृष्टिकोण का उदय हुआ| श्रम की महत्ता और उसके पारिश्रमिक के प्रति न्यायपूर्ण दृष्टिकोण का प्रयास हुआ|

👉अनेक देशों में श्रमिक संगठनों की स्थापना हुई तथा आंदोलनों का विस्तार के लिए ILO की स्थापना की गई|

इन्हें भी पढ़ें:- 

 

 

FAQ:-

 

Q समाजवाद शब्द का प्रयोग सबसे पहले किसने किया था?—– राबर्ट ओवेन

Q वैज्ञानिक समाजवाद का संस्थापक किसे कहा जाता है?—- कार्ल मार्क्स

Q कार्ल मार्क्स ने कौन पुस्तक लिखी?—– दास कैपिटल और कम्युनिस्ट मेनिफेस्टो

Q एक जार, एक चर्च और एक रूस का नारा किसने दिया?—- जार निकोलस द्वितीय

Q रूस के शासक को क्या कहा जाता था?—- जार

Q बोल्शेविक दल का नेता कौन था?—- लेनिन

Q प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान लेनिन का क्या नारा था?—- युद्ध का अंत करो

Q आधुनिक रूस का निर्माता किसे माना जाता है?—- स्टालिन

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *