Latest Post

आधार कार्ड को राशन कार्ड से कैसे लिंक करें: ऑनलाइन और ऑफलाइन प्रक्रिया 5 मिनट में खोया हुआ वोटर आईडी कार्ड प्राप्त करें | डुप्लीकेट वोटर आईडी कार्ड
Spread the love
Contents hide
1 भारत में गवर्नर जनरल की सूची|List of Governor Generals in India

भारत में गवर्नर जनरल की सूची|List of Governor Generals in India

  रणजीत सिंह के शासनकाल में उसके राज्य के विस्तार को अंग्रेजों ने रोक दिया था | सतलज के पूर्व राज्य अंग्रेजों के अधिकार में था| रणजीत सिंह के बाद सेना में सिखों के खालसा नामक समूह का वर्चस्व हो गया उसके राज्य के मामलों में हस्तक्षेप करना प्रारंभ कर दिया | अंग्रेजों ने पंजाब की सीमाओं पर अपनी सेना का एकत्रीकरण आरंभ कर दिया| रंजीत सिंह के बाद उसका बेटा दिलीप सिंह गद्दी पर बैठा था एवं उसकी मां, रानी जिंदनकौर अपने कृपापात्र अधिकारियों की सहायता से प्रशासन का कार्य करती थी| 1845 ईसवी में पहला अंग्रेज सीख -युद्ध आरंभ हुआ खालसा की हार के साथ युद्ध समाप्त हो गया|

1848 ईस्वी में पंजाब में अंग्रेज के विरुद्ध कई विद्रोह हुए जिसके परिणाम स्वरूप दूसरा अंग्रेजी सीखी युद्ध हुआ पंजाब की सेना विस्तारपूर्वक लड़ी परंतु हार गई | पंजाब को अंग्रेजों ने अपने राज्य में मिला लिया|

 

ब्रिटिश शासन 1858 और 1947 के बीच भारतीय उपमहाद्वीप पर ब्रिटिश द्वारा शासन था। क्षेत्र जो पूरी तरह ब्रिटेन के नियंत्रण में था |जिसे आम तौर पर समकालीन उपयोग में “india” कहा जाता था‌| उसमें वो क्षेत्र शामिल थे जिन पर ब्रिटेन का सीधा प्रशासन था और वो रियासतें जिन पर व्यक्तिगत शासक राज करते थे पर उन पर ब्रिटिश क्राउन की बहुत वर्चस्व था।

 

ब्रिटिश राज गोवा और पुदुचेरी जैसे शहरोंको छोड़कर वर्तमान समय के लगभग सम्पूर्ण भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश तक विस्तृत था। विभिन्न समयों पर इसमें अदन (1858 से 1937 तक), लोवर बर्मा (1858 से 1937 तक), अपर बर्मा (1886 से 1937 तक), ब्रिटेन सोमालीलैण्ड (1884 से 1898 तक) और सिंगापुर (1858 से 1867 तक) को भी शामिल किया जाता है। बर्मा को भारत से अलग करके 1937 से 1948 में इसकी स्वतंत्रता तक ब्रिटेन ताज के अधिन सीधे ही शासीत किया जाता था। फारस की खाड़ी के त्रुशल स्टेट्स को भी 1946 तक सैद्धान्तिक रूप से ब्रितानी भारत की रियासत माना जाता था और वहाँ मुद्रा के रूप में रुपया काम में लिया जाता था।

 

 

 

List of Governor Generals in India

 

ब्रिटिश राज के गवर्नर जनरल/वायसराय की सूची:-

 

गवर्नर जनरल —–वारेन हेस्टिंग्स

कार्यकाल अवधि —–1774 – 1785

आवश्यक जानकारी—-भारत में सबसे पहले गवर्नर जनरल । उनके कुछ अनुचित कार्यों के लिए, (अर्थात् रोहिल्ला युद्ध, नंद कुमार को प्राणदण्ड, राजा चैत सिंह और अवध की बेगमों के मामले के लिए) उनके खिलाफ‌ इंग्लैंड में महाभियोग चलाया गया था।

 

गवर्नर जनरल—-लॉर्ड कार्नवालिस

कार्यकाल अवधि—-1786 – 1793

आवश्यक जानकारी—- स्थायी बंदोबस्त (पर्मानेंट सेट्टल्मेंट), ईस्ट इंडिया कंपनी और बंगाल के जमींदारों के बीच जमीन पर लिया जाने वाला राजस्व निश्चित करने के लिए समझौता, उनकी अवधि के दौरान लागू किया गया था।

 

गवर्नर जनरल—-लॉर्ड वेलेस्ले

कार्यकाल अवधि—-1798 – 1825

आवश्यक जानकारी—- सहायक गठबंधन (सबसिडियरी अलियांस) की शुरूवात इन्होने की। इसके तहत ईस्ट इंडिया कम्पनी से प्राप्त संरक्षण के बदले में भारतीय शासक अपने राज्य क्षेत्र में ब्रिटिश सेना रखने पर सहमत हुए। सहायक गठबंधन को स्वीकार करने वाला पहला राज्य हैदराबाद था।

 

गवर्नर जनरल—-लार्ड विलियम बेंटिक

कार्यकाल अवधि—-1828 – 1835

आवश्यक जानकारी—-1828 मे भारत के पहले गवर्नर जनरल नियुक्त। उन्होंने सती प्रथा को गैरकानूनी और भारत में अंग्रेजी शिक्षा की शुरुआत की।

 

गवर्नर जनरल—–लॉर्ड डलहौजी

कार्यकाल अवधि—- 1848 – 1856

आवश्यक जानकारी—- उन्होने कुख्यात डॉक्ट्रीन ऑफ लैप्स की शुरुआत की। भारत में रेलवे और टेलीग्राफ का आगमन उनकी अवधी में ही हुआ। उन्हे आधुनिक भारत के निर्माता के रूप में भी जाना जाता है।

 

भारत के वायसराय —-लॉर्ड कैनिंग

कार्यकाल अवधि—-1856 – 1862

आवश्यक जानकारी—-वे 1857 की लड़ाई के दौरान गवर्नर जनरल थे। उन्हे युद्ध के बाद पहला वायसराय नियुक्त किया गया।

 

वायसराय —-लॉर्ड मेयो

कार्यकाल अवधि—-1869 – 1872

आवश्यक जानकारी—-वे अंडमान द्वीप समूह में एक अपराधी द्वारा मारे गए थे। भारत मे पहली जनगणना इसी अवधी में हुई थी पर इसमे सारे राज्य सम्मलित नही थे।

 

वायसराय —-लॉर्ड लिटन

कार्यकाल अवधि—-1876 – 1880

आवश्यक जानकारी—-1 जनवरी 1877 को दिल्ली दरबार अथवा शाही दरबार, जिसमे महारानी विक्टोरिया को केसर-ए-हिंद घोषित किया गया, का आयोजन इनकी अवधि के दौरान हुआ था। भारतीय भाषा के समाचार पत्रों पर नियंत्रण रखने वाला अधिनियम वर्नाक्यूलर प्रेस एक्ट, 1878 इन्ही कि अवधि में पारित हुआ।

 

वायसराय—-लॉर्ड रिप्पन

कार्यकाल अवधि—-1880 – 1884

आवश्यक जानकारी—-उन्होंने शासन की दोहरी प्रणाली की शुरुआत की। भारत की पहली सम्पूर्ण एवं समकालिक जनगणना 1881 मे आयोजित की गई। वे इल्बर्ट बिल के साथ भी जुड़े थे जिसके तहत भारतीय न्यायाधीश ब्रिटिश अपराधियों को दण्डित कर सकते थे।

 

वायसराय—-लॉर्ड डफ्फरिन

कार्यकाल अवधि—-1884 – 1888

आवश्यक जानकारी—-भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना इनकी अवधि के दौरान हुई थी।

 

वायसराय—-लॉर्ड कर्जन

कार्यकाल अवधि—-1899 – 1905

आवश्यक जानकारी—-बंगाल का विभाजन तथा स्वदेशी आंदोलन की शुरुवात।

 

वायसराय—-लॉर्ड हार्डिंगे

कार्यकाल अवधि—-1910 – 1916

आवश्यक जानकारी—-1911 में भारत की राजधानी कलकत्ता से दिल्ली स्थानांतरित हुई। इंगलैंड के राजा, जॉर्ज पंचम दिल्ली दरबार में उपस्थित होने के लिए 1911 मे भारत आए। राश बिहारी बोस और अन्य द्वारा उनकी हत्या का प्रयास किया गया।

 

वायसराय—-लॉर्ड चेम्सफोर्ड

कार्यकाल अवधि—-1916 – 1921

आवश्यक जानकारी—-1919 के जलियांवाला बाग त्रासदी उनकी अवधि के दौरान हुई। मोंटेग चेम्सफोर्ड सुधार, रोलेट एक्ट, खिलाफत आंदोलन आदि घटनाएं भी इनकी अवधि से जुड़ी हैं।

 

वायसराय—-लॉर्ड रीडिंग

कार्यकाल अवधि—1921 – 1926

आवश्यक जानकारी—-चौरी-चौरा की घटना इनकी अवधि में घटी। इसी दौरान महात्मा गाँधी को पहली बार जेल भेजा गया।

 

वायसराय—–लॉर्ड इरविन

कार्यकाल अवधि—-1926 – 1931

आवश्यक जानकारी—- इनकी अवधि साइमन कमीशन, गांधी इरविन समझौता, पहली गोलमेज सम्मेलन और प्रसिद्ध दांडी मार्च से जुड़ी है|

 

वायसराय—-लॉर्ड विल्लिंगडन

कार्यकाल अवधि—-1931 – 1936

आवश्यक जानकारी—-दूसरे और तीसरे गोल मेज़ सम्मेलन का आयोजन, रामसे मैकडोनाल्ड का साम्प्रदायिक निर्णय और महात्मा गाँधी और डॉ० अम्बेडकर के बीच पूना पक्ट इस अवधि से जुड़ी घटनाएँ हैं।

 

वायसराय—-लॉर्ड लिन्‌लिथगो

कार्यकाल अवधि—–1936 – 1943

आवश्यक जानकारी—-किर्प्स मिशन का भारत दौरा और भारत छोड़ो आंदोलन इनकी अवधि से जुड़े हैं।

 

वायसराय—-लॉर्ड वावेल

कार्यकाल अवधि—–1943 – 1947

आवश्यक जानकारी—-शिमला सम्मेलन और कैबिनेट मिशन का भारत दौरा इसी अवधि में हुआ।

 

 

इन्हें भी पढ़ें:- 

 

FAQ:-

 

Q किस एक्ट के अंतर्गत भारत मे प्रथम सर्वोच्च न्यायालय की स्थापना हुई?—- रेगुलेटिंग एक्ट 1773

Q स्वतंत्र भारत का अंतिम गवर्नर जनरल कौन था?—- सी राजगोपालाचारी

Q बंगाल का प्रथम गवर्नर कौन था?—– रॉबर्ट क्लाइव

Q बंगाल का प्रथम गवर्नर जनरल कौन था?—- वारेन हेस्टिंग्स

Q भारत का प्रथम गवर्नर जनरल कौन था?—– लॉर्ड विलियम बेंटिक

Q भारत का प्रथम वायसराय कौन था?—– लॉर्ड कैनिंग

Q भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के स्थापना के समय गवर्नर जनरल कौन था?—– लॉर्ड डफरिन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *